Breaking News :

जिला परिषद कर्मचारियों ने की पंचायती राज कर्मचारी बनाने की मांग

चूड़धार चोटी पर हुई हल्की बर्फबारी

श्रद्धालुओं से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली पलटी ,तीन श्रद्धालुओं की मौत, 6 घायल

प्रदेश के प्राथमिक स्कूलों में अब निपुण एप से विद्यार्थियों के मौखिक कौशल की देखरेख होगी

शातिरों ने पेपर लीक करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस व अन्य तकनीक का इस्तेमाल कियामामले में एसआईटी की जांच में कई अहम खुलासे हुए,

चीन के संबंध में भारत अपनी नीति को पूरी तरह बदले, भारत के लिए सबसे बड़ा संकट चीन है-शांता कुमार

लोक कलाकारों ने रोचक ढंग से दी सरकारी योजनाओं की जानकारी

संगड़ाह मे सैलानियों का हुजूम

उपमंडल संगड़ाह मे 2 सड़क हादसे

शरारती तत्वों ने तोड़ डाली बोरली-सीऊं सड़क की उद्घाटन पट्टिका ,विभाग ने संगड़ाह थाने मे दर्ज करवाया मामला

May 25, 2022

हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा नए वेतनमान जारी करने की अधिसूचना से हिमाचल प्रदेश के कर्मचारी खुश हैं – डॉ मामराज पुंडीर

News portals-सबकी खबर(शिमला)

जिस प्रकार पहले के वेतनमान में भी कई विसंगतियां रही हैं उसी प्रकार इस वेतन आयोग में जी कुछ विसंगतियां और कुछ एक समस्याएं रह गई थी। जिनको हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ ने जोर शोर से मुख्यमंत्री के समक्ष और मुख्य सचिव हिमाचल प्रदेश सरकार के समक्ष उठाया था और साथ ही कैबिनेट के विभिन्न मंत्रियों से भी इस संबंध में चर्चा की थी । जिसका परिणाम यह हुआ कि आज की बैठक में हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के प्रांत महामंत्री डॉ मामराज पुंडीर को हिमाचल प्रदेश के लाखों कर्मचारियों की समस्याओं के बारे में अपना पक्ष रखने का फिर से अवसर हिमाचल प्रदेश सरकार ने दिया ।


साथ ही इस बैठक में हिमाचल प्रदेश अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ ,प्राइमरी टीचर फेडरेशन और प्रवक्ता संघ सहित हिमाचल प्रदेश गवर्नमेंट टीचर यूनियन के पदाधिकारियों ने भाग लिया ।मीडिया को जारी अपने बयान में हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के प्रांत मीडिया प्रमुख शशि शर्मा ने कहा कि यह बैठक बहुत ही सौहार्दपूर्ण वातावरण में आयोजित हुई और भारी बर्फबारी और खराब मौसम के बावजूद भी हिमाचल प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव सहित वित्त विभाग के सभी प्रमुख अधिकारियों ने इस बैठक में भाग लिया उन्होंने कहा कि यह हिमाचल प्रदेश के कर्मचारियों के लिए बहुत ही सुखद दिन है क्योंकि 2012 के
री रिवीजन और उसके पश्चात 4-9-14 की फिक्सेशन बंद करने की वजह से कुछ समस्याएं इस पे कमीशन में देखने को मिली और उन समस्याओं से हिमाचल प्रदेश का कर्मचारी परेशान हो गया। उस परेशानी को दूर करने के लिए एक बहुत ही सार्थक पहल हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा की गई और मान्यता प्राप्त बड़े संगठनों को इन समस्याओं के निराकरण का दायित्व इस बैठक में सौंपा गया ।


हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के प्रांत महामंत्री डॉ मामराज पुंडीर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के माध्यम से 2 वर्ष के राइडर की जो शर्त कर्मचारियों के ऊपर थोपी गई थी और जिस वजह से आज बहुत बड़ा नुकसान हिमाचल प्रदेश के कर्मचारियों को हो रहा था उस राइडर की शर्त को हटाने की दिशा में सार्थक बातचीत हुई है। जल्द ही इस संबंध में अच्छे परिणाम आएंगे। उन्होंने कहा कि पंजाब पे कमीशन ने 15% का एक अन्य विकल्प पंजाब के कर्मचारियों को दिया था जो कि हिमाचल प्रदेश के कर्मचारियों को 3 जनवरी की अधिसूचना में उपलब्ध नहीं था तो यह विकल्प भी जल्दी खुल सकता है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए जो महंगाई भत्ते की विसंगति जो कि कर्मचारियों को 28% और अधिकारियों को 31% दिया गया उस बारे भी कर्मचारियों में निराशा का भाव था लेकिन बहुत जल्दी यह सभी समस्याएं दूर होने वाली हैं। हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ यह उम्मीद करता है कि पूर्ण राजयत्व दिवस के दिन यशस्वी मुख्यमंत्री इन सभी समस्याओं का निराकरण करेंगे और एक बहुत अच्छा वेतनमान बहुत अच्छी बढ़ोतरी के साथ हिमाचल प्रदेश के लाखों कर्मचारियों को मिलेगा और जो वर्ष 2011 में पंजाब के पे कमीशन में री-रिवीजन की वजह से जो एक बड़ी विसंगति पैदा हुई थी और इस विसंगति ने लाखों कर्मचारियों का बहुत बड़ा अहित किया था उस बड़ी विसंगति को हिमाचल प्रदेश सरकार सुलझाएगी और इसका पूरा श्रेय हिमाचल प्रदेश सरकार में यशस्वी मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को जाएगा । उन्होंने कहा कि आज बुलाए गए सभी संगठनों के पदाधिकारी हिमाचल प्रदेश सरकार के साथ हुई इस मीटिंग में बातचीत से बेहद प्रसन्न और उत्साहित हैं । हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ हिमाचल सरकार जो कि कल्याणकारी सरकार है और कर्मचारियों की हितैषी सरकार है उनका आभार व्यक्त करता है कि आपने अपने कर्मचारियों और अध्यापकों की पूरी चिंता की है और उनकी समस्या को उच्च प्राथमिकता में रखते हुए उसको हल करने का प्रयास किया है।

Read Previous

कार हादसे मे कोटी-धिमान पंचायत के पूर्व प्रधान 39 वर्षीय वीर सिंह की मृत्यु

Read Next

भाजपा पदाधिकारी, सांसद , मंत्री एवं विधायक माइक्रो डोनेशन के कार्यक्रम को जनांदोलन के रूप में चलाए : कश्यप