Breaking News :

मौसम विभाग का पूर्वानुमान,18 से करवट लेगा अंबर

हमारी सरकार मजबूत, खुद संशय में कांग्रेस : बिंदल

आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद 7.85 करोड़ रुपये की जब्ती

16 दिन बाद उत्तराखंड के त्यूणी के पास मिली लापता जागर सिंह की Deadbody

कांग्रेस को हार का डर, नहीं कर रहे निर्दलियों इस्तीफे मंजूर : हंस राज

राज्यपाल ने डॉ. किरण चड्ढा द्वारा लिखित ‘डलहौजी थू्र माई आइज’ पुस्तक का विमोचन किया

सिरमौर जिला में स्वीप गतिविधियां पकड़ने लगी हैं जोर

प्रदेश में निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निवार्चन के लिए तैयारियां पूर्ण: प्रबोध सक्सेना

डिजिटल प्रौद्योगिकी एवं गवर्नेंस ने किया ओएनडीसी पर क्षमता निर्माण कार्यशाला का आयोजन

इंदू वर्मा ने दल बल के साथ ज्वाइन की भाजपा, बिंदल ने पहनाया पटका

June 18, 2024

सुरक्षा दीवार गिरने से 10 करोड़ के संगड़ाह अस्पताल भवन को खतरा

News portals-सबकी खबर (संगड़ाह)  सिरमौर जिला के उपमंडल मुख्यालय संगड़ाह करीब 10 करोड़ की लागत से मात्र 2 साल पहले बने अस्पताल भवन की मार्च 2023 में दरकी सुरक्षा दीवार अथवा डंगे की आज तक मुरम्मत न किए जाने से आने वाली बरसात में इस संस्थान पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता संगड़ाह राकेश खंडूजा के अनुसार स्वास्थ्य विभाग द्वारा दीवार के लिए 35 लाख ₹ का बजट उपलब्ध करवाए जाने पर ही काम शुरू हो पाएगा। खंड स्वास्थ्य अधिकारी संगड़ाह डॉ अतुल भारद्वाज ने कहा कि, अनौपचारिक जानकारी के अनुसार लोक निर्माण विभाग के पास विभाग की करीब 1 करोड़ की राशि पहले की भी बची है, जिसे बिना आला अधिकारियों की अनुमति के नियमानुसार मुरम्मत पर खर्च करने में विभाग असमर्थता जता रहा है। फोन पर हुई बातचीत में उन्होंने कहा कि, रिटेनिंग वाल के बजट के लिए उच्च अधिकारियों को लिखा गया है। स्थानीय लोगों व पंचायत प्रतिनिधियों ने कल रविवार को उपमंडल संगड़ाह के हरिपुरधार में लोक सभा चुनाव उम्मीदवार विनोद सुल्तानपुरी के लिए वोट मांगने में आ रहे मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू को इस भवन को खतरा होने की जानकारी देने की राय स्थानीय कांग्रेस विधायक एंव विधानसभा उपाध्यक्ष को दे रहे हैं। स्थानीय भाजपा नेताओं द्वारा भी क्षेत्र के स्वास्थ्य व शिक्षण संस्थानों की बदहाली व संगड़ाह मे विद्युत विभाग का अधिशासी अभियन्ता कार्यालय, ददाहू में बीडीओ आफिस व हरिपुरधार नागरिक अस्पताल जैसे डेढ़ दर्जन संस्थान बंद करने का मुद्दा मीडिया के माध्यम से उठाया जा चुका है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार करीब 1 लाख की आबादी वाले स्वास्थ्य खंड संगड़ाह के 24 घंटे सेवाएं देने वाले इस 1 मात्र स्वास्थ्य संस्थान में पिछले 3 दिन से 1 मात्र चिकित्सक लगातार 24 घंटे काम कर रहा है और दूसरे की तबीयत खराब है। यहां हालांकि नर्सिंग स्टाफ लगभग पूरा बताया जा रहा है, मगर 8-8 घंटे सेवाएं देने व 1 रिलीवर के लिए कम से कम 3 चिकित्सकों की जरूरत है। यहां मोजूद डाक्टर को दाखिल मरीजों व ओपीडी के साथ-साथ पोस्टमार्टम, एमएलसी, उपमंडल स्तर की बैठकें व रोगी कल्याण समिति संबंधी कार्य भी देखने पड़ते हैं। 10 करोड़ का भवन होने के बावजूद विभाग द्वारा यहां एक्स-रे व अल्ट्रासाउंड जैसी मूलभूत सुविधाएं भी मरीजों को नहीं दी जा रही है। कुछ अरसा पहले जनवादी महिला समिति द्वारा यहां बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर विरोध प्रदर्शन भी किया जा चुका है।

Read Previous

शिलाई : शहीद पैराट्रूपर प्रमोद नेगी के प्रथम शहादत पर शहीदी दिवस का आयोजन

Read Next

लोक गायक JP शर्मा ने रेणुकाजी हल्के के बिरला मे गीत गाकर से की Vote डालने की Appeal

error: Content is protected !!