Breaking News :

यंहा एक युवक से पुलिस ने किया चरस बरामद और यंहा एक युवक ने लगाया फंदा

यंहा फिरआए 2 लोग कोरोना पॉजिटिव,21 आरटीपीसीआर सैंपल की रिपोर्ट आना शेष

चाइल्ड हेल्प लाइन द्वारा गांव शादड़ में बच्चों को कोरोना वायरस से बचाव के उपायों के प्रति जागरूक

शनिवार को 24 वर्षीय युवक का शव आस्था स्थल रेणुकाजी झील से किया बरामद

प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 21 अप्रैल तक ऑनलाइन रिवीजन जारी रहेगी

शिलाई में चीड़ के जंगल में आधा दर्जन काले कौवा पक्षी के शव मिलने से सनसनी

लेह-मनाली मार्ग दारचा से आगे बंद

22 वर्षीय युवती की हत्या के मामले में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने निकाला कैंडल मार्च

गृहस्थ आश्रम त्याग कर सन्यास आश्रम में आया विकास दुबे नहीं रख पाया दिल पर काबू ,ली युवती की जान

आखिर प्रदेश में स्कूल ही क्यों बंद कर रही सरकार ,स्कूलों में कोरोना, चुनावी रैलियों में नहीं

April 10, 2021

हिमाचल कांग्रेस के पदाधिकारियों की अंदरखाने आपसी लड़ाई महंगी पड़ी ।

News portals-सबकी खबर (शिमला)

कांग्रेस के आंदोलन में भी कई नेता कन्नी काटते रहे। इस पर कांग्रेस की प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल ने भी दो टूक शब्दों में एलान कर दिया था कि पार्टी अनुशासन भंग करने वालों पर कार्रवाई होगी। अब इस फैसले के बाद कई नेताओं की कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी, कोषाध्यक्ष अहमद पटेल, मोती लाल वोरा से मुलाकातें भी तय हो गई हैं।

हिमाचल कांग्रेस के पदाधिकारियों की अंदरखाने आपसी लड़ाई महंगी पड़ गई। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर और नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के दिल्ली दरबार से लौटते ही हाईकमान ने पीसीसी समेत डीसीसी और बीसीसी पर गाज गिराई है। अब तक के कार्यकाल में प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप पुरानी कार्यकारिणी से काम चलाने को विवश रहे औरपार्टी में एकजुटता के लिए संतुलन बनाते रह गए। हालांकि, उन्होंने प्रदेश के नए साठ ब्लाक अध्यक्षों की तैनाती भी कर दी थी।

अब हाईकमान ने मात्र राठौर की नियुक्ति को बरकरार रखते हुए पार्टी की पूरी फौज पर नजला गिराया है। इससे पहले एआईसीसी में केंद्रीय नेताओं से प्रदेश कांग्रेस के अलग-अलग गुटों के दिग्गज बराबर संपर्क बनाए रहे और एक-दूसरे पर छींटाकशी करते रहे। लोकसभा चुनाव और विधानसभा उपचुनाव में लगातार मिली हार के बाद से यह गुट सक्रिय हो गए और वे कोई भी मौका हाथ से नहीं गंवाने देना चाहते थे। धर्मशाला और पच्छाद विधानसभा उपचुनाव में कई नेता कांग्रेस प्रत्याशियों के प्रचार में आगे नहीं आए।

इन नेताओं को क्यों बुलाया गया है, इसके भी कई मायने निकाले जाने लगे हैं। दूसरी ओर, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर कहते हैं कि हाईकमान उनके काम से संतुष्ट है। हाईकमान ने जो काम उनको दिए हैं, उनको सफलतापूर्वक पूरा किया गया है। प्रदेश में चलाए आंदोलन की रिपोर्ट प्रभारी रजनी पाटिल ने हाईकमान को दी है। उनके काम को सराहा गया है।

Read Previous

भारत सरकार ने मंडी जिला में हवाई अड्डा निर्माण के लिए स्वीकृित प्रदान कर दी है।

Read Next

श्रद्धालुओं के लिए कूड़ा रखने के लिए चूड़धार के रास्ते में लगाए 12 कूड़ादान |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!