Breaking News :

प्रदेश की 3615 पंचायतों को पंचायतों को सैनिटाइज करने के लिए मिलेंगे 25-25 हजार रुपये

कोविड काल में एक्शन मोड में सीएम, महामारी से निपटने के हर प्रयास की खुद ले रहे फीडबैक

प्रदेश सरकार ने हिमकेयर और आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी कोविड-19 रोगियों को निःशुल्क उपचार का निर्णय सराहनीय – बलदेव तोमर

लोग भीड़ जुटाकर खुद ही बुला रहे बीमारी

कोविड वार्ड में मरीजों की देखभाल के दौरान कोताही बरती तो अस्पतालों के मुखियाओं पर होगी कार्रवाई

भंगानी में अवैध शराब के साथ एक व्यक्ति गिरफ्तार

हरिपुरधार व गत्ताधार ,पनोग क्षेत्र की दर्जनों पंचायतो में पिछले 25 घंटो से बिजली गुल

गहरी खाई में गिरी पिकअप ,चालक गंभीर रूप से घायल

संगड़ाह क्षेत्र में यदि किसी संक्रमित शख्स के पास घर पर अलग रहने की व्यवस्था नही है तो, उन्हे आइसोलेशन सेंटर मे भर्ती किया जाएगा

गिरिपार के इस गांव में 29 लोग पाए गए कोरोना पॉजिटिव

May 14, 2021

शिलाई में चीड़ के जंगल में आधा दर्जन काले कौवा पक्षी के शव मिलने से सनसनी

News portals-सबकी खबर (शिलाई )

उपमंडल शिलाई  में दर्जनों पक्षियों के मरने का मामला आने से सनसनी है। पक्षियों के मृत शव मिलने के बाद तरह तरह की अटकलें लगाई जा रही है कई लोग जहरीला पदार्थ खाने से पक्षियों के मरने की बात कह रहे है तो कई लाईलाज बीमारी फैलने की बातों को तवज्जो दे रहे है ऐसे में मामला कुछ भी हो, लेकिन प्रशाशन व स्थानीय निवासियों को गम्भीरता से अवश्य लेना चाहिए।

विभागीय जानकारी अनुसार वन विभाग कार्यालय शिलाई परिसर में चीड़ के जंगल में आधा दर्जन काले कौवा पक्षी के शव मिले है, इनमे कुछ शव एक सप्ताह से पहले के है ऐसा कहाँ जा रहा है, तो कुछ शव ताजे बताए जा रहे है कई पक्षियों के शव, कुत्ते, बिल्ली, चींटियों, मख्खीयों ने खाए है तथा शव को दयनीय हालत में एकत्रित किया गया है बताया जा रहा है कि वन विभाग परिसर के अतिरिक्त्त शिलाई गांव, महाविद्यालय परिसर के बाहर, व शिलाई महाविद्यालय से कुहन्ट पंचायत को जाने वाले रास्ते मे पक्षियों के शवों को देखा गया है वन विभाग की टीम पक्षियों के शवों को एकत्रित कर जांच के लिए जांचलेब भेज रही है।

आश्चर्य इस बात से हो रहा है कि पिछले 10 दिनों में क्षेत्र में पक्षियों के लगातार शव मिल रहे है, जहां से शव बरामद किए गए है वह वन विभाग के कब्जे वाला क्षेत्र है विभागीय कार्यालय ईसी परिसर में बना हुआ है, 10 मीटर के दायरे में पुलिस थाना, 50 मीटर दायरे में उपमंडलाधिकारी, तहसील कार्यालय है 10 मीटर पर ही सीडीपीओ कार्यालय सहित रिहायशी क्षेत्र आता है लेकिन किसी ने पक्षियों के क्रमानुसार मरने पर गौर नही किया है लेकिन जब मीडिया की टीम ने मौका का निरीक्षण किया तो मरने वाले पक्षियों की संख्या भी बढ़ गई तथा वन विभाग हरकत में आया है।

मामले की सूचना शिलाई उपमण्डलाधिकारी को दी गई है, जिसके बाद वन विभाग ने पक्षियों के शवों को अपने कब्जे में लिया है लेकिन पशु औषधालय के अधिकारी व कर्मचारियों ने ज्यादा दिलचस्पी नही दिखाई है विभागीय डॉक्टर तो दूर लेकिन कोई कर्मचारी भी मृत पक्षियों के शव व सेंपल लेने के लिए मौका पर नही पहुंचे है।

कार्यकारी वन परिक्षेत्र अधिकारी विद्या सागर ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि उन्होंने मृत पक्षियों के शवों को एकत्रित किया है तथा जांच के लिए लेब में भेजने के लिए सम्बन्धित विभाग से जरूरी व्यवस्थाएं मुवईया करवाने के लिए कहा है पशु औषधालय कार्यालय से कोई डॉक्टर व कर्मचारी उनके पास नही पहुँचा है जबकि उपमंडलाधिकारी शिलाई को मामले की पूरी जानकारी दे दी गई है विभागीय कर्मचारीयों द्वारा अन्य जगह जंगलो में मरे हुए पक्षियों के शवों को ढूंढा जा रहा है। लोगो के स्वास्थ्य को देखते हुए मामला गम्भीर है इससे नकारा नही जा सकता है।

Read Previous

लेह-मनाली मार्ग दारचा से आगे बंद

Read Next

प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 21 अप्रैल तक ऑनलाइन रिवीजन जारी रहेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!